ओशो एक महाप्रारंभ

₹60.00
-
+

Quick Overview

स्‍वामी अगेहभारती का जन्‍म प्रतापगढ़ उत्‍तर प्रदेश के ग्राम भुड़हा में 11 मार्च 1934 को जन्‍म हुआ था। 1958 से स्‍वतंत्र चिंतन, मनन एवं सम्‍यक् विचार प्रारंभ। 1966 अक्‍टूबर में ओशो की तीन पुस्तिकाएं हाथ लगीं। 1966 दिसंबर में हुए एक रहस्‍यमय अनुभूति, जिससे एक सर्वथा नये जीवन की शुरुआत। 10 फरवरी, 1967 को ओशो से ‘योगेश भवन’ जबलपुर में प्रथम भेंट। 29 जनवरी, 1971 को ओशो के हाथों सन्‍यस्‍त, अनेक यात्राओं में ओशो के साथ। 1985 में रजनीशपुरम अमरीका में चार माह ओशो के अतिथि। ओशो कार्यों में पूर्णत लग जाने के उद्देश्‍य से अक्‍टूबर, 1991 में भारतीय रेलवे से सेवा निवृत्ति। 13 जनवरी, 1993 से 30 जून, 1994 तक ओशो कम्‍यून, पूना में रहे। अब कहीं भी प्रवचन, वार्ता, बुदि्धजीवियों के मध्‍य विचार-गोष्‍ठी एवं ध्‍यान-साधना-शिविर संचान हेतु उपलब्‍ध। इस पुस्‍तक में उन्‍होंने ओशो से जुड़े कई अनुभवों को समेटा है।
More Information
Name ओशो एक महाप्रारंभ
ISBN 8128400630
Pages 112
Language Hindi
Author Ageh Bharti
Format Paperback
ओशो एक महाप्रारंभ
  • Free Shipping on orders Above INR 350 Valid In India Only
  • Self Publishing Get Your Self Published
  • Online support 24/7 10am to 7pm+91-9716244500