Deendayal Uadhyay PB Hindi

₹250.00
-
+

Quick Overview

साहित्य, संस्कृति और राजनीति में समान रूप से पकड़ रखने वाले रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और वर्तमान में हरिद्वार लोकसभा के सांसद हैं ।

कविता, कहानी, उपन्यास, बाल सहित्य, पर्यटन, तीर्थाटन तथा व्यक्तित्व विकास जैसी अनेक वि/ाओं पर आपकी अब तक चार दर्जन से अ/िक पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं । पुस्तकों का र्‍ैंच, रूसी, जर्मन, अंग्रेजी, नेपाली, आदि विदेशी भाषाओं सहित तमिल, तेलगू, कन्नड़, मराठी एवं संस्कृत आदि भारतीय भाषाओं में अनुवाद हुआ है । आपकी रचनायें देश एवं विदेश के अनेक विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रम में शामिल हैं । अनेक विश्वविद्यालयों में आपके साहित्य पर शो/ कार्य हो चुका है और हो रहा है ।

उत्कृष्ट साहित्य सृजन के लिये आपको देश के तीन राष्ट्रपतियों द्वारा राष्ट्रपति भवन में सम्मानित किया गया है । देश एवं विदेश में भारत गौरव, राष्ट्र गौरव, साहित्य भारती, साहिम्य गौरव और साहित्यचेत्ता सम्मान सहित मॉरिशस सरकार द्वारा ‘मॉरिशस सम्मान’ तथा ‘गोपियो अन्तर्राष्ट्रीय असा/ारण उपलब्/ि सम्मान’ से अपको विभूषित किया जा चुका है ।

आपकी ‘हिमालय का महाकुंभ’ कृति को केन्द्र सरकार द्वारा ‘राहुल सांकृत्यायन पर्यटन पुरस्कार’ प्राप्त हुआ है । हाल में ही युगांडा सरकार द्वारा आपके उत्कृष्ट साहित्यिक योगदान के लिये प्र/ानमंत्री द्वारा ‘युगांडा मानवीय शिखर सम्मान’, नेपाल राष्ट्र के प्र/ानमंत्री द्वारा ‘नेपाल हिमाल सम्मान’ तथा दुबई सरकार द्वारा सुशासन के लिये सम्मानित किया गया ळें

More Information
Name Deendayal Uadhyay PB Hindi
ISBN 9789352965540
Pages 263
Language Hindi
Author Ramesh Pokhriyal
Format Paperback

साहित्य, संस्कृति और राजनीति में समान रूप से पकड़ रखने वाले रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और वर्तमान में हरिद्वार लोकसभा के सांसद हैं ।

कविता, कहानी, उपन्यास, बाल सहित्य, पर्यटन, तीर्थाटन तथा व्यक्तित्व विकास जैसी अनेक वि/ाओं पर आपकी अब तक चार दर्जन से अ/िक पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं । पुस्तकों का र्‍ैंच, रूसी, जर्मन, अंग्रेजी, नेपाली, आदि विदेशी भाषाओं सहित तमिल, तेलगू, कन्नड़, मराठी एवं संस्कृत आदि भारतीय भाषाओं में अनुवाद हुआ है । आपकी रचनायें देश एवं विदेश के अनेक विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रम में शामिल हैं । अनेक विश्वविद्यालयों में आपके साहित्य पर शो/ कार्य हो चुका है और हो रहा है ।

उत्कृष्ट साहित्य सृजन के लिये आपको देश के तीन राष्ट्रपतियों द्वारा राष्ट्रपति भवन में सम्मानित किया गया है । देश एवं विदेश में भारत गौरव, राष्ट्र गौरव, साहित्य भारती, साहिम्य गौरव और साहित्यचेत्ता सम्मान सहित मॉरिशस सरकार द्वारा ‘मॉरिशस सम्मान’ तथा ‘गोपियो अन्तर्राष्ट्रीय असा/ारण उपलब्/ि सम्मान’ से अपको विभूषित किया जा चुका है ।

आपकी ‘हिमालय का महाकुंभ’ कृति को केन्द्र सरकार द्वारा ‘राहुल सांकृत्यायन पर्यटन पुरस्कार’ प्राप्त हुआ है । हाल में ही युगांडा सरकार द्वारा आपके उत्कृष्ट साहित्यिक योगदान के लिये प्र/ानमंत्री द्वारा ‘युगांडा मानवीय शिखर सम्मान’, नेपाल राष्ट्र के प्र/ानमंत्री द्वारा ‘नेपाल हिमाल सम्मान’ तथा दुबई सरकार द्वारा सुशासन के लिये सम्मानित किया गया ळें

  • Free Shipping on orders Above INR 350 Valid In India Only
  • Self Publishing Get Your Self Published
  • Online support 24/7 10am to 7pm+91-9716244500