Corona Virus Jankari Aur Bachav (कोरोना वायरस जानकारी और बचाव)

₹50.00
-
+

Download E-Books

Quick Overview

पिछले कुछ समय से वायरस या विषाणु ने पूरी दुनिया में भयंकर रोगों का संचार किया है। ऐसे बहुत से वायरस आए हैं जो कि एकदम से लोगों में फैलते हैं और अपना तांडव दिखाते हैं। कोरोना वायरस की चर्चा पिछले कुछ महीनों से पूरी दुनिया में हर जगह हो रही है और फिलहाल इसके तेजी से फैलने की बातें भी सामने आई है। दरअसल चीन से शुरू हुए इस कोरोना वायरस ने धीरे-धीरे दुनिया में अपने भयंकर संक्रमण को फैला दिया है। जिसकी वजह से लगातार लोगों को यह वायरस संक्रमित करता जा रहा है और जिससे हजारों मौतें भी हो चुकी हैं। यह स्थिति एक देश विकास की होड़ में लगे रहकर स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही का ही नतीजा है जो पूरे विश्व को भुगतना पड़ रहा है। कई शोधकर्ता, डॉक्टरस् का यह मानना है कि कोरोना वायरस का जितना हौआ वैश्विक स्तर पर बनाया गया है। यह इतना खतरनाक है नहीं बल्कि यह उतना ही खतरनाक है जितना कि एक साधारण वायरस होता है जैसे कि खांसी, जुकाम या किसी भी एक साधारण फ्लू की चपेट में आ जाना।
More Information
Name Corona Virus Jankari Aur Bachav (कोरोना वायरस जानकारी और बचाव)
ISBN 9789390088256
Pages 32
Language Hindi
Author Himanshu Sharma
Format Paperback
पिछले कुछ समय से वायरस या विषाणु ने पूरी दुनिया में भयंकर रोगों का संचार किया है। ऐसे बहुत से वायरस आए हैं जो कि एकदम से लोगों में फैलते हैं और अपना तांडव दिखाते हैं। कोरोना वायरस की चर्चा पिछले कुछ महीनों से पूरी दुनिया में हर जगह हो रही है और फिलहाल इसके तेजी से फैलने की बातें भी सामने आई है। दरअसल चीन से शुरू हुए इस कोरोना वायरस ने धीरे-धीरे दुनिया में अपने भयंकर संक्रमण को फैला दिया है। जिसकी वजह से लगातार लोगों को यह वायरस संक्रमित करता जा रहा है और जिससे हजारों मौतें भी हो चुकी हैं। यह स्थिति एक देश विकास की होड़ में लगे रहकर स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही का ही नतीजा है जो पूरे विश्व को भुगतना पड़ रहा है। कई शोधकर्ता, डॉक्टरस् का यह मानना है कि कोरोना वायरस का जितना हौआ वैश्विक स्तर पर बनाया गया है। यह इतना खतरनाक है नहीं बल्कि यह उतना ही खतरनाक है जितना कि एक साधारण वायरस होता है जैसे कि खांसी, जुकाम या किसी भी एक साधारण फ्लू की चपेट में आ जाना।
  • Free Shipping on orders Above INR 350 Valid In India Only
  • Self Publishing Get Your Self Published
  • Online support 24/7 10am to 7pm+91-9212716589